Posted on

बाड़मेर. जिद के चलते तालाब को तैर कर पार करने उतरे बुजुर्ग का शव दूसरे दिन 18 घंटे बाद गुरुवार को तैरता मिला। कुछ ग्रामीण बुधवार को तालाब पर अच्छी बरसात के चलते खुशहाली को लेकर हवन करने पहुंचे थे, इस दौरान दो लोगों को तैर कर तालाब पार करते देख बुजुर्ग भी पानी में उतर गया और डूब गया। रात में उसकी 10 बजे तक तलाश की गई, लेकिन वह मिला नहीं। सुबह एसडीआरएफ की जोधपुर से पहुंची टीम जब तालाब पर पहुंची तो वहां बुजुर्ग का शव पानी पर तैरता दिखा। सिणधरी उपखंड पुलिस थाना क्षेत्र के सड़ा झुंड ग्राम पंचायत क्षेत्र में तालाब पर हुई घटना के बाद बुजुर्ग फूसाराम पुत्र भीखाराम देवासी निवासी सड़ा झुंड का शव मिलने पर पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द किया।
एसडीआरएफ की टीम पहुंची, लौटी वापस
बुधवार को तालाब में डूबे बुजुर्ग का सर्च ऑपरेशन करने के बाद स्थानीय गोताखोरों व सिविल डिफेंस की टीम को सफलता नहीं मिलने पर प्रशासन ने मौके पर एसडीआरएफ जोधपुर से टीम को बुलाया था। एसडीआरएफ की टीम गुरुवार अल सुबह पायला कला चौकी पर पहुंच गई। उससे पहले स्थानीय लोगों ने तालाब पर बुजुर्ग का शव तैरता देख लिया फिर स्थानीय सिविल डिफेंस टीम ने शव को बाहर निकाला तो प्रशासन ने राहत की सांस ली और एसडीआरएफ टीम को वापस जोधपुर के लिए रवाना किया।
तालाब के पास ही बुुजुर्ग का घर
बुजुर्ग का घर तालाब के पास ही था। इसके कारण परिजन पूरी रात तालाब के किनारे ही बैठे रहे और इसी आस में थे कि अब तो बाहर आ जाएंगे। रात पूरी आंखों में कट गई। इस बीच अल सुबह जब उन्हें यह पता चला कि जोधपुर से आई टीम उन्हें तलाश करेगी तो उम्मीद भी बंधी। इसी बीच किसी ने सूचना दी कि तालाब में शव तैर रहा है और वह संभवत: बुजुर्ग का ही है। इसके बाद पहुंची पुलिस ने टीम की मदद से बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया।

Source: Barmer News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *